भाजयुमो ने सीएम से मुलाकात न होने पर दिया धरनाः दूसरे गेट से निकाले गए योगी

भाजयुमो ने सीएम से मुलाकात न होने पर दिया धरनाः दूसरे गेट से निकाले गए योगी

फर्रुखाबाद। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का उनके कार्यकर्ताओं ने ही इतना विरोध किया कि मुख्यमंत्री को डाक बंगले से दूसरे गेट से निकाला गया। गुस्साए कार्यकर्ता सड़क पर लेट गए। जब मुख्यमंत्री फतेहगढ डाक बंगला पहुंचे तो उनसे भेंट न हो पाने भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं का धैर्य टूट गया और वह डाक बंगले गेट के बाहर धरने पर बैठ गए। जिलाध्यक्ष अजीत महाजन के नेतृत्व में गुस्साए कार्यकर्ताओं ने DM SP व सत्यपाल सिंह मुर्दाबाद, सतपाल हटाओ भाजपा बचाओ के नारे लगाए।

प्रशासनिक अधिकारियों ने भाजयुमो कार्यकर्ताओं को बताया कि मुख्यमंत्री से मिलने वाली सूची में आप लोगों का नाम नहीं है। तब कार्यकर्ताओं ने मीडिया के सामने आरोप लगाया कि दूसरे दलों से आए एवं बूथ स्तर पर काम के नाम पर दलाली करने वाले लोगों को मुख्यमंत्री से मिलवाया जा रहा है जबकि हम लोगों ने खून पसीना बहाकर सरकार बनाई है। पार्टी को 2019 के चुनाव युवकों के विरोध का परिणाम भुगतना पड़ेगा। गुस्साए कार्यकर्ता गेट तोड़ने के लिए उसे जोरदार से हिलाने लगे तो भाष्कर द्विवेदी को डाक बंदे डाक बंगले के अंदर बुलाया गया।

गुस्साए कार्यकर्ताओं के भय से मुख्यमंत्री की कार को अक्सर बंद रहने वाले दूसरे के से निकाला गया।
तो गुस्साए कार्यकर्ता मुख्यमंत्री के काफिले के सामने सड़क पर लेट गए और मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे। यह देख कर प्रशासनिक अधिकारियों के हाथ पैर फूल गए। पुलिस वालों ने कार्यकर्ताओं को सड़क से जबरन खींचकर व डंडे मार कर जबरन हटाया। तभी काफिला पुलिस लाइन की ओर रवाना हुआ। विरोध करने वालों में भाजयुमो के जिला उपाध्यक्ष गोपाल राठौर आशुतोष अवस्थी शशांक आदि आधा सैकडा युवक शामिल
थे।

About Author

Related Articles