खुलासा : प्रेम प्रसंग की रंजिश में बेहोश करने के बाद की गई थी मनोज की गला घोटकर हत्या

 

कायमगंज फर्रूखाबाद। प्रेमप्रसंग की रंजिश में बेहोश करने के बाद गला घोटकर मनोज श्रीवास्तव की हत्या की गई थी। पुलिस ने हत्या के बाद मनोज के मोहल्ले के युवक करन भारद्वाज एवं गनेश मिश्रा को हिरासत में लिया था। पुलिस ने जब करन से सख्ती से पूछताछ की तो उसने मनोज की हत्या का इकबाल कर लिया। मनोज करन एवं मोहल्ले के युवक रजनेश ने परसो रात शिवाला भवन में आयोजित शादी समारोह में दावत खाई थी। योजना के मुताबिक करन ने मनोज को वही रोक लिया और उसे शिवाला भवन की छत पर ले गया था। वही कोल्डड्रिंक में नशीली गोली मिलाकर पिलाई गई थी। जब मनोज बेहोश हो गया तब करन ने रस्सी से गला घोटकर उसकी हत्या कर दी।

करन प्लास्टिक की रस्सी का टुकडा साथ ले गया था। मनोज के शव के पास ही रस्सी का टुकडा मिला था। रजनेश ने पुलिस को बताया कि मै दावत खाने के बाद घर चला गया था। पुलिस को जांच में पता चला था कि मनोज का करन की बहन से प्रेम प्रसंग चल रहा था। करीब एक साल पूर्व बहन के साथ इश्कबाजी से गुस्साये करन के बडे भाई नितिन ने मोहल्ले के ही दोस्त सुधांशु पांडेय के सहयोग से मनोज की पिटाई की थी। मंडी चौकी इंचार्ज स्वेता शर्मा ने मनोज की प्रेमिका को हिरासत में लेकर पूछताछ की।

मालुम हो कि मनोज मोहल्ला पाठक नई कालोनी निवासी रामनरेश का 20 वर्षीय अविवाहित पुत्र था। सिवाला मंदिर में मनोज के मोहल्ले के ही रविन्द्र की बेटी की शादी हुई थी। इसी शादी में मनोज व करन आदि युवक दावत खाने गये थे। बीते दिन सुबह शिवाला भवन की छत पर मनोज का शव देखा गया था। मनोज अपहरण के मुकदमे में 3 माह से जेल में बंद था। वह बीते दिनों ही जेल से छूटा था। पुलिस अधीक्षक डा0 अनिल मिश्र ने घटना स्थल का निरीक्षण कर करन आदि से पूछताछ की थी। एसपी ने इंस्पेक्टर को मामले का जल्द खुलासा करने का निर्देश दिया था। एसपी ने हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने के लिये स्वाट टीम को भी लगया था। बताया गया कि करन एसओजी टीम की हिरासत में है।

सोशल मीडिया पर शेयर करे ||

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*

अन्य खबरें