आवश्यक सूचना * एफबीडी न्यूज के पाठकों सूचित किया जाता है कि यदि उनकों किसी भी समाचार के सम्बंध में कोई आपत्ति अथवा सुझाव हो तो वह फोन नम्बर- 9415167404 व 8840944487 पर तुरंत ही दर्ज कराये अथवा fbdanandbhan@gmail.com पर मेल करे। *






दोस्त गुड्डन एवं टिंकू ने अशोक अग्रवाल के एक करोड ठगे : फोन देने गया शोहदा पकडा गया

 

फर्रूखाबाद। दोस्त गुड्डन एवं टिंकू अरोरा ने नगर के मोहल्ला लोहाई रोड 3/88 निवासी अशोक कुमार अग्रवाल पुत्र अनंतराम के सवा करोड रूपये ठग लिये। शीतग्रह मालिक अशोक ने नगर के मोहल्ला रायदीपचन्द्र निवासी अनिल अरोडा उर्फ गुड्डन व उनके भाई सुनील उर्फ टिंकू के विरूद्ध ठगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। दोनों भाईयों की साहबगंज चौराहे पर आरएससी लोजिस्टिक प्राइवेट लिमिटेड फर्म है। वह लोग 141 नोएडा के काशना नम्बर 254 ब्लेज शाहदरा में भी रहते है। वह अपनी फर्म आप कान्स्ट्रक्शन वर्क एवं कान्स्ट्रक्शन कार्य एवं मटेरियल की बडी मात्रा में सप्लाई करते है। दोनों भाईयों ने अशोक अग्रवाल से कहा कि धन की कमी के कारण व्यापार नही कर पा रहे है।

संस्थान बंद होने की कगार पर है। हम आपकों संस्थान का भागीदार बना लेगे और अर्जित आय से समय से भुगतान करेगे। आप धन से मदद कर दे तो आपका धन पूर्ण रूप से सुरक्षित रखेगे और जरूरत पडने पर वापस कर देगे। दोनों भाईयों ने सवा करोड रूपये देने को कहा। अनिल अग्रवाल ने अपने व अपनी पत्नी व पुत्र के एकाउंट से चेक द्वारा 1.11 करोड रूपये दे दिये। दोनों भाईयों ने कुछ समय तक लाभ के कुछ रूपये दिये। लेकिन पार्टनरशिप वीट लिखने की बात कहने पर टाल मटोल करते रहे और बाद में वीट लिखने से साफ मना कर दिया और उधार लिये गये रूपये भी वापस नही किये। बल्कि ज्यादा तकादा करने पर जान से मारने की धमकी दी।

फोन देने गया शोहदा पकडा गया

कोतवाली फर्रूखाबाद के ग्राम भगुआ नगला निवासी राजेन्द्र यादव के पुत्र अंकित की पिटाई कर पुलिस के हवाले किया गया। अंकित मोहल्ले की ही परचून दुकान पर युवती को मोबाइल फोन देने गया था। जिसकी जाानकारी होने पर परिजनों ने अंकित की जमकर पिटाई की और डायल 100 पुलिस से पकडवा दिया। युवती को लेकर उसकी मां युवक की शिकायत करने कोतवाली पहुंची। पुलिस हिरासत में अंकित ने बताया कि मै टैंपों चलाता हूँ। युवती से दुकान पर सिगरेट खरीदी थी। धोखे से मोबाइल फोन छूट गया था। जब मोबाइल फोन लेने गया तो युवती के भाई आदि ने पकडकर डंडों से जमकर पिटाई की। जिससे पैर में खून निकला।