आवश्यक सूचना * एफबीडी न्यूज के पाठकों सूचित किया जाता है कि यदि उनकों किसी भी समाचार के सम्बंध में कोई आपत्ति अथवा सुझाव हो तो वह फोन नम्बर- 9415167404 व 8840944487 पर तुरंत ही दर्ज कराये अथवा fbdanandbhan@gmail.com पर मेल करे। *     *कायमगंज नगर क्षेत्र की खबरों व विज्ञापनों के लिए अनुराग सिंह गंगवार से संपर्क करें. फोन नंबर 6386 6056 20*






सोने की चैन उड़ाये जाने से महिला दुखी : धूमधाम से मनाई गई भरत मुनि जयंती

 

फर्रूखाबाद। सोने की चैन गायब कर दिये जाने से थाना जहानगंज के ग्राम मीरपुर बरनाखुर्द निवासी सर्वेश की पत्नी सुनीता काफी दुखी हो गई। सर्वेश आज दोपहर बाद 1.20 बजे पत्नी सुनीता को कमालगंज रेलवे स्टेशन तिराहे से टैंपों द्वारा घर जा रहा था। सुनीता गले में 30 ग्राम बजनी सोने की चैन व हाथ में अंगूठी पहनकर शादी समारोह में शामिल होने जा रही थी। जब टैंपों ग्राम भटपुरा गैस एजेंसी के पास से गुजर रहा था तभी सुनीता को गले से चैन गायब होने का एहसास हुआ। शिकायत मिलने पर 112 नम्बर पुलिस ने टैंपों चालक को हिरासत में ले लिया। कीमती सोने की चैन गायब हो जाने से सुनीता काफी मायूस हो गई।

धूमधाम से मनाई गई भरत मुनि जयंती

नगर के मोहल्ला जोगराज स्ट्रीट एफ्टेक कम्प्यूटर एजूकेशन पर मागी पूर्णिमा एवं भरत मुनि जयंती के अवसर पर गोष्ठी का आयोजन किया गया। अध्यक्षीय सम्बोधन में संतोष दीक्षित ने कहा कि भरत मुनि नाट्य शास्त्र के जन्मदाता है। आदिकाल से नाट्य के माध्यम से आप अपनी बात समाज तक सरलता से पहुंचा सकते है। हमारा जीवन ही एक नाट्य है। हम सभी कोई न कोई अभिनय कर रहे है। सुरेन्द्र पांडेय ने कहा कि भरतमुनि ने नाट्य शास्त्र की रचना की, जिसे पंचमवेद भी कहते है। गोष्ठी में शैलेन्द्र दुबे, अरविन्द दीक्षित आदि ने भी नाट्य शास्त्र पर प्रकाश डाला।