आवश्यक सूचना * एफबीडी न्यूज के पाठकों सूचित किया जाता है कि यदि उनकों किसी भी समाचार के सम्बंध में कोई आपत्ति अथवा सुझाव हो तो वह फोन नम्बर- 9415167404 व 8840944487 पर तुरंत ही दर्ज कराये अथवा fbdanandbhan@gmail.com पर मेल करे। *     *कायमगंज नगर क्षेत्र की खबरों व विज्ञापनों के लिए अनुराग सिंह गंगवार से संपर्क करें. फोन नंबर 6386 6056 20*






डीएम ने लॉकडाउन का लिया जायजा : लोहिया कर्मचारी नही बनवायेगे पास, डाक्टर अपना फूंक रहे डीजल

फर्रूखाबाद। जिला प्रशासन ने कोरोना वायरस से निपटने के लिये जिले में 14 रैपिड रेस्पॉन्स टीम का गठन किया है। यह टीम प्रति सप्ताह बाहर से आने वाले लोगों की घर जाकर जांच करेगी। एैसे लोगों को 14 दिन तक कोरेनटाइन प्रोटोकॉल की निगरानी में रखा जायेगा। ग्राम प्रधान लेखपाल एवं सचिव आदि ब्लाक स्तरीय अधिकारी गांव में बाहर से आने वाले लोगों की निगरानी कर रहे है। जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने पुलिस अधीक्षक डा0 अनिल मिश्र के साथ फतेहगढ फर्रूखाबाद एवं नवाबगंज क्षेत्र का भ्रमण कर लॉकडाउन का जायजा लिया। इस दौरान अधिकारियों ने सडक पर घूमने वाले लोगों को रोककर उन्हे घर में ही रहने की कडी हिदायत दी।

लोहिया कर्मचारी नही बनवायेगे पास

पुलिस द्वारा डा0 इमरान से बदसलूकी किये जाने को लेकर लोहिया अस्पताल के डाक्टरों का प्रशासनिक अधिकारियों से काफी विवाद हुआ। सीओ सिटी द्वारा गलती महसूस किये जाने पर डाक्टरों ने हडताल वापस ले ली। अस्पताल में हडताल होने की सूचना पर आवास विकास चौकी इंचार्ज विशेष कुमार तुरंत ही अस्पताल पहुंचे। तब डा0 सीएमएस कार्यालय में पुलिस के प्रति अपनी भडास निकाल रहे थे। डाक्टरों ने कहा कि वह कही भी पास बनवाने नही जायेगे। शासन स्तर से कहा गया है कि डाक्टर का परिचय पत्र ही उनका पास है। डाक्टरों ने विचार विर्मश कर पुलसिया उत्पीडन के विरोध में हडताल करने की घोषणा कर दी। तभी चौकी इंचार्ज की सूचना पर शहर कोतवाल वेदप्रकाश पांडेय वहां पहुंचे। तब तक डाक्टर सीएमएस कार्यालय से बाहर निकल चुके थे। डाक्टरों ने सामूहिक रूप से जाकर इमरजेंसी का कार्य बंद कराया। इमरजेंसी कक्ष में भर्ती मरीज को वार्ड भेजा गया। इमरजेंसी कक्ष का गेट बंद कर दिया गया, गुस्साये कर्मचारी ने नारेबाजी भी की।

थोडी ही देर में एक बच्चा गम्भीर अवस्था में पहुंचा तो डा0 अभिषेक चतुर्वेदी व डा0 तिवारी ने बच्चे को बच्चा वार्ड में भर्ती कराकर उसका उपचार किया। इंस्पेक्टर श्री पांडेय डाक्टरों से बात करने के लिये आपात कालीन चिकित्सक के ठहरने वाले कमरे में गये। थोडी देर में ही सिटी मजिस्ट्रेट अशोक कुमार मौर्य पहुंचे। जिन्होने डाक्टर इमरान से घटना के बारे में जानकारी की, इसी दौरान डाक्टरों की सिटी मजिस्ट्रेट से कहा सुनी हुई। इसी दौरान इंस्पेक्टर को बताया गया कि एक व्यक्ति ने ओपीडी के गेट में जबरन घुसने का प्रयास किया और मना करने पर कर्मचारियों के साथ बदसलूकी की। वह व्यक्ति मारूती कार नम्बर यूपी 76एसी/3035 से देख लेने की धमकी देकर चला गया। डाक्टरों ने एडीएम व एएसपी से वार्ता के दौरान स्पष्ट कर दिया कि वह लोग पास नही बनवायेगे, उनकी आईडी ही पास है।

डाक्टर अपना फूंक रहे डीजल

लोहिया अस्पताल के डाक्टरों की टीम ने नगर के कई मोहल्लो में कोरेनटाइन प्रोटोकॉल की निगरानी वाले लोगों का परीक्षण किया। 5 डाक्टरों की टीम 2 एम्बुलेंस के साथ रवाना हुई। डाक्टरों ने कोतवाली फतेहगढ के मोहल्ला ग्वालटोली, जाफरी, नेकपुर कलां एवं ग्राम नरायनपुर आदि स्थानों पर जाकर निगरानी वाले लोगों का चेकअप किया। डा0 अभिषेक चतुर्वेदी ने बताया कि हम डाक्टर लोग कोरोना वायरस से निपटने के लिये वाहनों में अपना डीजल फूंक रहे है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*