पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव सहित परिवार के 20 लाइसेंस निलंबित : सपा जिलाध्यक्ष का भाजपा नेता को नोटिस

पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव सहित परिवार के 20 लाइसेंस निलंबित : सपा जिलाध्यक्ष का भाजपा नेता को नोटिस

फर्रूखाबाद।(एफबीडी न्यूज) शासन के कडे रूख के बाद पडोसी अलीगंज के पूर्व विधायक एवं पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष सहित 20 परिजनों के लाइसेंसी शस्त्र निलंबित किये गये है। मुख्यमंत्री से शिकायत की गई थी कि अलीगंज के पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जोगेन्द्र सिंह यादव, ब्लाक प्रमुख रामनाथ सिंह यादव, रवेन्द्र सिंह उर्फ मुखिया के खिलाफ अनेकों अपराधिक मुकदमे दर्ज है। इसके बाबजूद इन लोगों के साथ ही परिवार के 20 लोगों के पास लाइसेंसी शस्त्र है।

थाना जसरथपुर आदि थानों की पुलिस ने एसपी को अवगत कराया कि इन लोगों के विरूद्ध न्यायालय में मुकदमे विचाराधीन है। कुछ मुकदमों में दोष मुक्त भी हो चुके है। इन लोगों के पास लाइसेंसी शस्त्र रहना लोकहित में उचित नही प्रतीत होता है। सभी लोगों के लाइसेंसों को निरस्त किये जाने की संस्तुति की गई।

एसपी की रिपोर्ट के आधार पर डीएम ने 20 लाइसेंस शस्त्र निलंबित कर मामले की जानकारी मुख्यमंत्री को भी दे दी है। लाइसेंस निलंबित होने वालों में 2 महिलाये भी शामिल बताई गई। मालुम हो कि पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव व उनका परिवार समाजवादी पार्टी से जुडा है। वह लोग सपा नेता मुलायम सिंह यादव व अखिलेश यादव के करीबी है। दिग्गज नेताओं के लाइसेंस निलंबन चर्चा का विषय है।

सपा जिलाध्यक्ष का भाजपा नेता को नोटिस

सपा के जिलाध्यक्ष नदीम अहमद फारूखी ने अधिवक्ता जागेश्वर प्रसाद कुशवाहा के माध्यम से शमसाबाद टाउन एरिया के पूर्व चेयरमैन एवं वरिष्ठ भाजपा नेता को विजय गुप्ता को मानहानि का नोटिस भेजा है। जिलाध्यक्ष नदीम अहमद फारूखी ने नोटिस में कहा है कि मै कायमगंज सिविल बार एसोसिएशन का अध्यक्ष रहा तथा अलीगढ मुस्लिम यूनीवर्सिटी में सर्वोच्च समिति का भी सदस्य रहा हूँ।

राजनैतिक रूप से मेरे प्रतिद्वंदी विजय गुप्ता ने फर्जी शिकायत की कि मेरे द्वारा चोरी से नलकूप चलाया जा रहा है। जब कि मेरे नाम नलकूप का कनेक्शन है। विजय गुप्ता 8 नवम्बर को विद्युत विभाग की टीम के साथ नलकूप पर आये थे और स्वंय निर्देश देकर बिजली की केबिल उतरवा दी। मेरे परिजनों ने बिजली कनेक्शन के कागजात दिखाये तो जांच टीम ने केबिल वापस कर दी थी। श्री फारूखी ने कहा है कि फर्जी शिकायत से मेरी सामाजिक छवि धूमिल हुई है।

Categories: Breaking News

About Author

Related Articles