रोडवेज मंदिर का गेट क्षतिग्रस्त होने पर हंगामा : डीएम ने विकास के लिये संकिसा का जायजा

रोडवेज मंदिर का गेट क्षतिग्रस्त होने पर हंगामा : डीएम ने विकास के लिये संकिसा का जायजा

फर्रूखाबाद।(एफबीडी न्यूज) अतिक्रमण हटाओं अभियान के दौरान बस स्टेशन स्थित शंकर जी का मंदिर क्षतिग्रस्त हो जाने पर हंगामा मचाया गया। जेसीबी से रोडवेज के पश्चिमी गेट के पास एवं बस स्टेशन के अंदर स्थित दुकाने व खोखे तोडे गये। इसी दौरान शिव मंदिर का बाहरी गेट क्षतिग्रस्त हो गया। गेट के ऊपर लगी गणेश जी की छोटी प्रतिमा गिर पडी। गेट के पास फुलवारी भी नष्ट हो गई। स्थानीय लोगों ने मंदिर को गिरता देख हंगामा मचाया।

सूचना मिलने पर युवा हिन्दू महासभा के प्रदेश अध्यक्ष विमलेश मिश्रा, लकी आदि कार्यकर्ता वहां पहुंचे, गुस्साये लोगों ने जेसीबी चालक पर पथराव किया। विमलेश मिश्रा चालक को बचाने के लिये दौडे तभी पैर तार में उलझ जाने के कारण गिर पडे। बवाल होने पर रोडवेज के एआरएम ने वायदा किया कि नया गेट बनवाकर ग्रिल भी लगवा देगे।

आज के अभियान के दौरान 32 दुकाने गिराई गई। रोडवेज के पश्चिमी गेट से मुख्य डाक घर कार्यालय तक एक दर्जन दुकाने नगरपालिका की जमीन पर अवैध रूप से बनाई गई है। परेशानी से बचने के लिये लालगेट तिराहे एवं बद्रीविशाल कालेज के पास बेरीकेटिंग कर यातायात रोका गया। आवास विकास तिराहे पर भी बेरीकेटिंग की गई थी।

सांय 4.30 बजे तक चलाये गये अभियान के बाद नगर मजिस्ट्रेट ने बताया कि अगले चरण में डाक घर तक भी एक दर्जन दुकाने तोडी जायेगी। युवा हिन्दू महासभा के प्रदेश अध्यक्ष विमलेश मिश्रा ने बताया कि जेसीबी चालक को बचाने के दौरान गिर जाने से हाथ में चोट लग गई। एआरएम ने क्षतिग्रस्त मंदिर का गेट बनवाकर ग्रिल लगवाये जाने का सार्वजनिक घोषणा की है।

डीएम ने विकास के लिये संकिसा का जायजा

जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने उपजिलाधिकारी सदर अनिल कुमार के साथ संकिसा क्षेत्र में भ्रमण किया। डीएम काली नदी के उस पार राजघाट स्थित बाईवीएस सेंटर तक बुद्ध मंदिरों के साथ ही जनपद मैनपुरी की सीमा देखने गये थे। इस दौरान बाईवीएस सेंटर के बाहर लगे गज स्तम्भ के फोटो खींचे गये। अधिकारियों ने इम्पेक्ट होटल में रूककर विकास कार्यों की जानकारी की। डीएम ने राही पर्यटन आवास का निरीक्षण कर प्रबंधक फुरखान से आवश्यक जानकारी ली। इसी दौरान डीएम ने पर्यटक आवास के सामने पर्यटन विभाग की जमीन के बारे में जानकारी की।

लेखपाल अजय कुमार शुक्ला ने बताया कि करीब ढाई बीघा जमीन संकिसा पर्यटन कॉम्पलेक्स पेयजल योजना पर्यटन विभाग के नाम दर्ज है। इसी स्थान पर पानी की टंकी बनी है। जिला मुख्यालय रवाना होने से पूर्व डीएम ने सराय अगहत की ओर जाकर जिले की सीमा का भी जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान थानाध्यक्ष धवेन्द्र कुमार व कानूनगो जबर सिंह मौजूद रहे।

मालुम हो कि बीते दिनो जब सूबे के मुख्यमंत्री योगी ने बौद्ध स्तूप के निकट पूजा अर्चना की थी। उसी दौरान भिक्षुओं ने सीएम को अवगत कराया था कि यहां की अव्यवस्था के कारण विदेशी सैलानी परेशान रहते है। वह अपने देश में जाकर संकिसा की दुर्दशा का प्रचार करते है। तभी मुख्यमंत्री ने डीएम को संकिसा स्तूप क्षेत्र की बेहतर ढंग से सफाई के साथ ही जरूरी सुविधाये उपलब्ध कराने की सलाह दी थी।

Categories: Breaking News

About Author

Related Articles