कोरोना वैक्सीनेशन की ठगी से रहे सावधानः जिला पंचायत की जमीन से हटेगे कब्जे

कोरोना वैक्सीनेशन की ठगी से रहे सावधानः जिला पंचायत की जमीन से हटेगे कब्जे


फर्रुखाबाद। कोरोना को लगभग एक साल होने को आ रहा है, ऐसे में लोगों को बेसब्री से इसकी वैक्सीन का इंतजार है। इस मौके को भुनाने को साइबर ठगों ने अपना जाल बिछा रखा है कोविड टीकाकरण के नाम पर ठगी का खेल शुरू हो चुका है। वैक्सीन का रजिस्ट्रेशन करवाने के नाम पर लोग आसानी से झांसे में आ सकते हैं, इसलिए विशेष सावधान रहने की जरूरत है।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 वंदना सिंह का कहना है कि कोविड-19 टीकाकरण के लिए कहीं से न तो कोई काल की जा रही है और न ही आम आदमी का पंजीकरण किया जा रहा है अभी तक सिर्फ सरकारी और निजी क्षेत्र में काम कर रहे स्वास्थ्य कर्मियों का पंजीकरण किया गया है।

जिन लोगों को वैक्सीन दी जानी है उसकी सूची विभाग के पास है। लोगों को चाहिए ऐसे फोन कॉल से सावधान रहें, अन्यथा साइबर क्राइम का शिकार हो सकते हैं। उन्होंने बताया कि हालांकि जिले में अभी तक ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है फिर भी हमें सावधानी रखने की जरूरत है। जालसाज आधार कार्ड का विवरण लेने के बाद उसकी पुष्टि के लिए वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) की मांग करते हैं। कोई व्यक्ति जैसे ही ओटीपी बताता है,आधार नंबर से जुड़े बैंक खाते से रकम उड़ा दी जाती है। इसलिए पंजीकरण के लिए फोन आने पर कोई जानकारी न दें और किसी भी जानकारी के लिए नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर संपर्क करें।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ प्रभात वर्मा का कहना है कि कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए फोन पर रजिस्ट्रेशन करवाने की कोई योजना नहीं हैं और न ही किसी भी प्रकार का आनलाइन रजिस्ट्रेशन किया जा रहा हैं। किसी भी अनजान व्यक्ति से निजी और गोपनीय जानकारी जैसे बैंक एकाउंट, एटीएम कार्ड (गोपनीय नंबर), आधार कार्ड और पैन कार्ड संबधी जानकारी साझा न करें। मोबाइल पर आए किसी भी प्रकार के ओटीपी को किसी से शेयर न करें।
कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराने का वादा करने वाले किसी भी अनजान एप, लिंक या ऐसा दावा करने वाले किसी भी डिजिटल प्लेटफार्म के झांसे में न आएं कोई भी अनजान एप डाउनलोड न करें।
जिला पंचायत की जमीन से हटेगे कब्जे

जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने आज जिला पंचायत के प्रशासक पद पर कार्यभार ग्रहण करने के बाद अपर मुख्य अधिकारी नरेन्द्र सिंह से निर्माण कार्यो की जानकारी की। उन्होंने समय पूर्ण न हुए व लम्बित निर्माण कार्यों की जानकारी प्राप्त होने पर जिम्मेदार अधिकारी एवं ठेकेदारों के विरूद्ध चेतावनी जारी करने के निर्देश दिये।
जिला पंचायत की सभी ऐसी जमीन जिन पर अवैध कब्जा है, को चिन्हित कर सप्ताह के अन्दर उनकी रिपोर्ट प्रस्तुत करने के दिए निर्देश। जिला पंचायत के हाॅट बाजारों का शुल्क वर्षों से नहीं बढ़ाये जाने की जानकारी पर पत्रावली प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।

गंदगी फैलाने वालों पर होगा जुर्माना

जिलाधिकारी श्री सिंह ने मेला पांचालघाट के औचक निरीक्षण के दौरान घाट पर सुरक्षा व्यवस्था के दृष्टिगत घाट की अन्तिम सीड़ी पर लोहे के पोल जंजीर सहित लगवाने के निर्देश दिए। ताकि स्नान करते समय कोई गंगा में न डूबें। परियोजना अधिकारी डूडा को पांचालघाट के किनारे पार्किंग स्थल का निर्माण कार्य कराने का निर्देश दिया। पार्किंग स्थल बनने से आमजन को जाम से मिलेगी निजात।
घाट पर कूड़े दान एवं घाट पर बनाई गई पक्की नालियों में काफी गन्दगी देख जिलाधिकारी ने एडीपीआरओ अमित त्यागी को तत्काल नाली में लगी जालियों को ठीक कराकर गन्दगी साफ कराने की हिदायत दी।

घाट पर बने कूड़ेदानों से नियमित कूड़ा उठवाने के भी निर्देश दिए।
डीएम ने घाट पर कूड़ा फेकने वाले ग्रामीणों से प्रतिदिन 500 रूपये के हिसाब से जुर्माना बसूल करने को कहा। निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी राजस्व, उप जिलाधिकारी सदर, डीपीआरओ,परियोजना अधिकारी डूडा आदि उपस्थित रहे।

Categories: Breaking News

About Author

Related Articles