दुष्कर्म के आरोपी पुलिस कर्मियों के मामले में एफआर निरस्त : हत्या व धोखाधडी के केस

दुष्कर्म के आरोपी पुलिस कर्मियों के मामले में एफआर निरस्त : हत्या व धोखाधडी के केस

फर्रूखाबाद।(एफबीडी न्यूज) अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ने दुष्कर्म के मामले की एफआर निरस्त कर पुनः विवेचना करने का आदेश दिया है। मालुम हो कि थाना नवाबगंज के ग्राम सिरौली की पीडित युवती ने दुष्कर्म के मामले में दरोगा आंसू यादव, सिपाही इन्द्रेश व अंकित आदि के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पीडित युवती के प्रोटेस्ट प्रार्थना पत्र पर अदालत ने काफी गहराई से सुनवाई की। मुकदमे की विवेचना नवाबगंज थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर राकेश कुमार शर्मा ने की थी। उन्होने जांच में पाया कि वादिनी ने दोबारा गलत तथ्यों के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कराकर आरोपियों से आर्थिक लाभ प्राप्त करने तथा दबाब बनाकर फैसला करने के उद्धेश्य से रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

पीडित ने अदालत को अवगत कराया कि मुकदमे में नवाबगंज थाने में तैनात दरोगा आंसू यादव व सिपाही इन्द्रेश आरोपी है। इस मामले की जांच थाना नवाबगंज पुलिस से कराई गई, जब कि मैने कई बार विवेचना बदलने की फरियाद अधिकारियों से की थी। न तो विवेचना बदली गई और न आरोपी पुलिस वालों का तबादला किया गया। विवेचना पूर्णता दोष पूर्ण है। वादिनी के माता पिता बहनोई व बहन द्वारा कोई बयान विवेचक को नही दिया गया।

वादिनी की डाक्टरी रिपोर्ट व 164 के बयान के बाबजूद भी अंतिम याचिका प्रेसित कर दी गई है। विवेचना पूर्णता अभियुक्तों के बचाव में की गई है। अदालत ने बीते दिन इस मामले की सुनवाई के दौरान आदेश किया कि अंतिम आख्या 65/20 निरस्त की जाती है। थानाध्यक्ष नवाबगंज को आदेशित किया जाता है कि वह इस प्रकरण में आपत्ति के अनूक्रम में पुनः अग्रिम विवेचना करे और परिणाम से न्यायालय को भी अवगत कराये।

हत्या व धोखाधडी के केस

थाना मऊदरवाजा पुलिस ने अदालत के आदेश पर ग्राम सलेमपुर रतन निवासी धीरेन्द्र उर्फ धीरदार सिंह की ओर से गांव के सुधीर उर्फ चंदा व सदानंद उर्फ दुल्ला के विरूद्ध हत्या की रिपोर्ट दर्ज की है। मालुम हो कि 9 जुलाई 2020 को धीरेन्द्र के पुत्र 17 वर्षीय हिमाचल की हत्या कर शव को पेड पर लटका दिया गया था।

थाना मऊदरवाजा पुलिस ने मोहल्ला नुनहाई निवासी पंकजकांत मिश्रा की ओर से अदालत के आदेश पर नीवकरोरी निवासी योगेन्द्र कुमार दुबे पुत्र स्व0 कौशलेन्द्र के विरूद्ध धोखाधडी की रिपोर्ट दर्ज की है। योगेन्द्र कुमार ने 15 अप्रैल 2015 को 10 लाख रूपयों में अपनी जमीन का बैनामा पंकजकांत को इस शर्त पर कर दिया था कि एक वर्ष में रूपये वापस देने पर बैनामा प्रभावहीन हो जायेगा। पंकजकांत लगातार रूपये वापस देने को कहते रहे, जब उन्होने इंतखाब निकलवाया तो पता चला कि योगेन्द्र इससे पूर्व अपनी जमीन 3 लोगों को बेच चुका है।

हजारों के लालच लाखों उडाये

कोतवाली फर्रूखाबाद पुलिस ने कायमगंज रेलवे रोड न्यू टीचर्स कालोनी निकट ब्लाक निवासी अशोक कुमार मिश्रा की ओर से कानपुर के अभिषेक सिंह व आर्याश पथारिया के विरूद्ध धोखाधडी की रिपोर्ट दर्ज की है। आरोपियों ने सोशल मीडिया पर मैसेज वायरल किया था कि 5 लाख रूपये लगाकर 60 से 70 लाख रूपये की आमदनी करे। आरोपियों ने अशोक कुमार मिश्रा एवं उनके पार्टनर अशोक कुमार शर्मा से 5 लाख रूपये ले लिये। जब आरोपियों को दिये गये कागजात पर संदेह हुआ तो वह बिजली विभाग गये तो पता चला कि इस नाम की कोई कम्पनी नही है। रूपयों का लेनदेन नगर फर्रूखाबाद के रेलवे रोड स्थित होरीलाल मार्केट में योगेश को कोरियर की दुकान पर हुआ है।

घायल रंजन की उपचार के दौरान मौत

थाना मेरापुर क्षेत्र के गांव पुनपालपुर निवासी ओमकार के घायल 17 वर्षीय पुत्र रंजन की मौत हो गई है।
मालुम हो कि विगत 27 फरवरी की रात करीब 8.30 बजे रंजन गांव के ही दोस्त पुरुषोत्तम राजपूत एवं टीटू राजपूत के साथ बाइक से पांचालघाट गंगा स्नान करने जा रहा था।
जब बाइक मोहम्मदाबाद से संकिसा मार्ग पर थाना मेरापुर के ग्राम हमीरखेडा़ के सामने से गुजर रही थी तभी आज्ञात वाहन की टक्कर लगने से पुरुषोत्तम और टीटू की मौत हो गई थी और रंजन गंभीर रूप से घायल हो गया था। घायल रंजन को लोहिया से परिजन सिटी अस्पताल ले गये थे जहां से सैफई के लिये रंजन को रिफर किया गया था। बुधवार को रंजन की उपचार के दौरान मौत हो गई। जिससे परिवार में कोहराम मच गया। परिजन शव को लेकर देर रात तक घर पंहुचेंगे।

Categories: Breaking News

About Author

Related Articles