बसपा नेता अनुपम दुबे व उनके भाइयों सहित 12 लोगों पर डकैती का केस,पेशकार निलंबित

बसपा नेता अनुपम दुबे व उनके भाइयों सहित 12 लोगों पर डकैती का केस,पेशकार निलंबित

फर्रुखाबाद। (एफबीडी न्यूज़) बसपा नेता अनुपम दुबे व उनके भाइयों रिस्तेदारों आदि एक दर्जन लोगों के विरुद्ध डकैती का केस दर्ज कराया गया है। जनपद कन्नौज कोतवाली छिबरामऊ के ग्राम के मोहल्ला बस्तीराम निवासी राजेश सिंह चौहान पुत्र नरेंद्र सिंह ने पुरानी घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई है। जिसमें कोतवाली फतेहगढ के मोहल्ला कसरट्टा निवासी अनुपम दुबे अनुराग दुबे जीतू दुबे अमित दुबे।

थाना विशुनगढ़ के ग्राम रामपुर बैजू निवासी रतनेश दुबे पुत्र रामसेवक, सुमित दुबे अमित दुबे पुत्रगण रतनेश दुबे कोतवाली छिबरामऊ की गुरुद्वारा गली निवासी देवेंद्र यादव पुत्र जंगबहादुर एवं शान्तुन दुबे धर्मेंद्र दीक्षित, धर्मेंद्र वर्मा धर्मेंद्र गुप्ता व चार अज्ञात व्यक्तियों को आरोपी बनाया गया है। पुलिस ने अपराध संख्या 525/ 21 धारा 395 341 504 506 323 427 व 354 ख के तहत रिपोर्ट दर्ज की है।

मुकदमे की जांच उपनिरीक्षक स्वदेश कुमार को सौंपी गई है। रिपोर्ट के मुताबिक राजेश सिंह 4 फरवरी 2020 की शाम 7 बजे इंडिया विस्टा नंबर यूपी 74/ 74 एफ 5444 से विशुनगढ रोड से पत्नी राधा रानी के साथ गांव जा रहे थे। कार को राजेश स्वयं चला रहे थे राधारानी कार की अगली सीट पर बैठी थी। जब कार विशुनगढ़ रोड पर काली मठिया से पहले रतनेश दुबे की खाद की दुकान के सामने से गुजर रही थी।

तभी वहां घात लगाए बैठे माफिया अनुपम दुबे आदि आरोपियों ने सामने खड़े होकर गाड़ी रुकवाली। राजेश को कार से जबरन निकालकर गाली गलौज करते हुए लात घूसा से पिटाई की गई। अनुपम दुबे ने अपना परिचय देते हुए कहा कि साले मैं फर्रुखाबाद का डॉन हूं इतने में अनुराग दुबे डब्बन दुबे ने अनुपम दुबे की पिस्टल हमारी खोपड़ी में लगा दी और धमकाते हुए बोले कि अबकी बार तेरे सीने में इतनी गोलियां मारूंगा कि तू लड़ने के लायक नहीं रहेगा।

सभी लोगों ने राजेश की गले से 2 तोला वजनी सोने की चैन व उंगलियों से दो सोने की अंगूठी उतार ली कार में रखा हुआ 2 लाख रुपये भी लूट लिए। राजेश ने दर्ज कराई रिपोर्ट में कहा है कि इन लोगों के हाथों में पेट्रोल था मुझे जलाने का प्रयास करने पर हमारी पत्नी राधा रानी ने मुझे बचाने का प्रयास किया तो इन लोगों ने हमारी पत्नी को भी पिस्टल से धमकाया।

यह लोग पत्नी को उठाकर अपनी गाड़ी में डालने लगे। इसी दौरान वहां राहगीर आ गए लोगों की भीड़ बढ़ती भीड देख कर हवा में असलाह लहराते हुए भाग गए।

इससे पहले लोगों ने हमारी गाड़ी के शीशे तोड़ दिए थे भय की वजह से कई दिनों तक मै घर से बाहर नहीं निकला। हिम्मत करके कई दिन बाद छिबरामऊ कोतवाली गए वहां अनुपम दुबे अनुराग दुबे रत्नेश दुबे के प्रभाव से हमारी रिपोर्ट नही लिखी गई। मुझे टरका दिया गया अब थाने में पुनः प्रार्थना पत्र दे रहा हूं।

राजेश ने मीडिया को बताया कि मेरी छिबरामऊ मंडी में गल्ला की हालत है रत्नेश दुबे अनुपम के रिश्तेदार हैं वह कृषि विभाग में डिओ पद पर कार्यरत है। मेरे मकान को गलत ढंग से बेचकर काफी प्रताड़ित किया गया तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मेरे मामले की पंचायत की थी उन्होंने अनुपम को रुपए लेकर मकान खाली करने को कहा था। 10 जनवरी को लोक भवन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी शिकायत की थी। मुख्यमंत्री की जांच के बाद प्रशासनिक अधिकारियों ने धोखाधड़ी के दो मुकदमे दर्ज कराए थे। देवेंद्र यादव सपा नेता है वह पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश का काफी करीबी बताता है।

लापरवाह पेशकार निलंबित

जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह में तहसील अमृतपुर के पूर्व पेशकार शिशुपाल को निलंबित करने का निर्देश दिया है। डीएम ने अमृतपुर तहसील के निरीक्षण के दौरान मिसल बंद रजिस्टर मांगा तो पेशकार ने बताया कि पूर्व में तैनात पेशकार शिशुपाल द्वारा 18 तारीख से अभी तक चार्ज नहीं दिया गया है तभी डीएम ने पेशकार के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की है।

Categories: Breaking News

About Author

Related Articles