लाखों की वसूली कांड में दोषी पाए गए दोनों सिपाही निलंबितः दर्ज होगी रिपोर्ट

लाखों की वसूली कांड में दोषी पाए गए दोनों सिपाही निलंबितः दर्ज होगी रिपोर्ट

फर्रुखाबाद। (एफबीडी न्यूज) लाखों की वसूली कांड में दोषी पाए गए सिपाही कपिल सिंह  व रिंकू सिंह को निलंबित कर दिया गया है उनके विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई जा रही है। अपर पुलिस अधीक्षक अजय प्रताप ने बताया कि सीओ कायमगंज सोहराब आलम ने रुपयों की वसूली के मामले में जांच रिपोर्ट दे दी है जांच में अचरा चौकी के दोनों सिपाही दोषी पाए गए हैं।

दोनों सिपाहियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है उनके विरुद्ध पीड़ित रंजीत शाक्य के द्वारा मेरापुर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई जा रही है। इस मुकदमे की जांच सीओ कायमगंज कायमगंज करेंगे जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी। एएसपी ने बताया अभिनव गुप्ता की आवास विकास कॉलोनी सिंडीकेट बैंक में आधार कार्ड बनाने की मशीन लगी है।

उन्होंने एसपी से शिकायत की थी कि कुछ लोग आधार कार्ड बनाने में फ्रॉड कर रहे हैं। एएसपी ने इस मामले की जांच कोतवाली फर्रुखाबाद के प्रभारी निरीक्षक को दी और सर्विलांस प्रभारी को मामले का पता लगाने का का निर्देश दिया। एएसपी ने बताया अचरा चौकी के दोनों सिपाहियों ने 10 अक्टूबर की शाम थाना मेरापुर के ग्राम नूरनगर निवासी रंजीत शाक्य को गलत ढंग से उठाया था और उनसे रुपयों की मांग की थी।

इसी मामले की जांच रिपोर्ट सीओ कायमगंज ने दी है मालूम हो कि रंजीत ग्राम नूर नगर निवासी श्याम पाल का पुत्र है रंजीत का गांव में जनसेवा केंद्र है। दोनों सिपाही रंजीत को पकड़कर आवास विकास पुलिस चौकी में ले गए थे और रंजीत को छोड़ने के लिए 2 लाख रुपयों की मांग की थी तब श्याम पाल सिंह ने विधायक सुशील शाक्य से इस मामले में शिकायत की थी।

जब विधायक सुशील शाक्य रंजीत को देखने आवास विकास चौकी गए तो सिपाही रंजीत का लैपटॉप लेकर वहां से भाग गए थे। विधायक ने इस मामले की शिकायत अपर पुलिस अधीक्षक से करके कड़ी कार्रवाई करने को कहा था। एसपी  के निर्देश पर सीओ कायमगंज व इंस्पेक्टर फर्रुखाबाद ने चौकी जाकर मामले की जांच पड़ताल की। मेरापुर थानाध्यक्ष देवी प्रसाद गौतम ने जब सिपाहियों पर दबाव बनाया तब सिपाही कपिल सिंह व रिंकू सिंह आवास विकास चौकी पहुंचे और घटना के लिए माफी मांगी।

दोनों सिपाही पहले एसओजी में तैनात थे उसके बाद दोनों का थाना मेरापुर में तबादला हुआ था। कपिल का 4 माह पूर्व एवं रिंकू का 2 माह पूर्व ही अचरा चौकी भेजे गये थे। मेरापुर थानाध्यक्ष देवी प्रसाद गौतम ने बताया कि सिपाही कपिल सिंह एवं रिंकू सिंह ने रुपयों की मांग की थी। उनका निलंबन आदेश प्राप्त होते ही पुलिस लाइन के लिए रवानगी कर दी जायेगी।

Categories: Breaking News

About Author