दबंग सिपाहियों ने पीड़ित युवक का वीडियो बनाकर गाड़ी में डलवाया था हजारों का पेट्रोल

दबंग सिपाहियों ने पीड़ित युवक का वीडियो बनाकर गाड़ी में डलवाया था हजारों का पेट्रोल

 

फर्रुखाबाद। (एफबीडी न्यूज) लाखों रुपयों की अवैध वसूली करने के प्रयास में दोनों सिपाही खाकी के शिकंजे में फस गए हैं। थाना मेरापुर पुलिस ने ग्राम नूरनगर निवासी रंजीत शाक्य की ओर से कार नंबर यूपी 13 बीएन/ 0499 में सवार होकर अवैध वसूली का प्रयास करने वाले सिपाही कपिल सिंह व रिंकू सिंह के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पुलिस ने अपराध संख्या 187/ 2021 धारा 389 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 13 व 7 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। रिपोर्ट के मुताबिक रंजीत का गांव में ही जनसेवा केंद्र है वह 10 अक्टूबर को दिन के एक बजे केंद्र पर बैठा था। तभी तो लोग बाइक से वहां पहुंचे और रंजीत से बोले कि मैं एसओजी में हूं। सिपाही बाइक पर बिठाकर रंजीत को अचरा चौकी के पीछे ले गए रंजीत को स्विफ्ट डिजायर कार कार नंबर up13 वीएन/ 0499 पर बिठाया गया।

रंजीत से 2 लाख रुपयों की मांग करते हुए अचरा सरात अगहत होकर मोहम्मदाबाद की ओर ले गए। सिपाहियों ने रंजीत की उसके रिश्तेदारों से बात करवाई रंजीत अपने रिश्तेदारों से कहता रहा कि मुझे रुपए दे दो मुझे एसओजी पुलिस ने पकड़ लिया है। रंजीत ने अपने मौसेरे भाई चचेरे भाई व पापा से भी रुपए मांगे रंजीत नेम मोहम्मदाबाद पहुंचने पर रंजीत ने मिनी बैंक के खाते से रुपए निकालने का प्रयास किया लेकिन मिनी बैंक वालों के पास रुपए नहीं थे।

रंजीत को फतेहगढ़ रोड स्थिति स्कूल में ले जाया गया वहां धमकाकर रंजीत से अपनी मर्जी से बुलवा कर वीडियो बनाया। रंजीत को बद्री विशाल डिग्री कॉलेज के पास रामशरण अग्रवाल पेट्रोल पंप पर ले जाया गया वहां रंजीत के फोन पे एकाउंट से 3000 का पेट्रोल डलवाया। रंजीत को आवास विकास चौकी ले जाया गया तभी रंजीत के पापा व उसका भाई विधायक सुशील शाक्य को बुलाकर चौकी ले गए विधायक सुशील शाक्य ने रंजीत को पुलिस से छुड़वाया।

मुकदमा दर्ज होते ही विवेचक सीओ सोहराब आलम ने थाने मे ही रंजीत के बयान लिए। मामले का भंडाफोड़ हो जाने के बाद दोनों सिपाही गायब हो गए हैं।

Categories: Breaking News

About Author

Related Articles